हरियाणा में बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण बहुत सी फसल बर्बाद हो गई है. अब फसलों के नुकसान का आकलन तैयार करवाया जायेगा. मुख्य सचिव टीवीएसएन प्रसाद ने प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों को नुकसान का आकलन करने के लिए तुरंत सर्वे करवाने का आदेश दिया है.

मुख्य सचिव ने कहा,  किसानों की संतुष्टि हमारी प्राथमिकता है. उन्होंने प्रशासनिक सचिवों, सभी जिलों के उपायुक्तों तथा रबी-फसल की खरीद से संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रदेश की मंडियों में गेहूं और सरसों की आवक तेजी से बढ़ रही है. किसानों और आढ़तियों से तालमेल करके रविवार को मंडियों में फसल की खरीद बंद रखें और ट्रकों व अन्य वाहनों के माध्यम से 24 घंटे में 50 प्रतिशत गेहूं व सरसों की फसलों का मंडियों से कल शाम तक उठान करवाकर गोदामों में रखवाएं.

weather update

अगर मंडियों में फसलों के उठान में कोताही न बरती जाए. वे स्वयं इसका फीडबैक लेंगे. उन्होंने कहा – अगर गेहूं उठान के लिए आढ़ती अपने वाहन का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग तय रेट दे दिए जायें. किसान की फसल का जे-फॉर्म कटने के 72 घंटे के अंदर-अंदर फसल का भुगतान किया जाये. उन्होंने अनाज मंडियों से फसलों का समय पर उठान करने और किसानों को हरसंभव सुविधा मुहैया कराने के भी निर्देश दिए.

मुख्य सचिव बोले आढ़तियों के साथ तालमेल करके श्रमिकों की व्यवस्था करें, ताकि ट्रकों से गेहूं की लोडिंग और अनलोडिंग में दिक्कत न हो.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *