Bad HabbitsBad Habbits Of Aishwarya: अभिषेक ऐसे कपल नजर आते हैं, जो नए जमाने के होते हुए भी रिश्तों के मामले में पारंपरिक भारतीय संस्कारों को दिल से लगाकर जीते हैं।जाहिर सी बात है कि इतनी लंबी शादी चलाने के लिए दोनों ने ही कई लेवल पर समझौते किए होंगे। हालांकि, फिर भी कुछ आदतें तो ऐसी हैं ही, जिसे दोनों बस सहते हैं क्योंकि दोनों को जीवन साथ में बिताना है। ऐश से जुड़ी इसी तरह की एक आदत के बारे में अभिषेक ने बात की थी। ये वो आदत है, जो अगर आपमें या आपके साथी में हो, तो उसे बड़ी ही आसानी से सुधारा जा सकता है।

क्या कहा था अभिषेक ने?

दरअसल, ये बात उस दौरान की है, जब अभिषेक और उनकी बड़ी बहन श्वेता बच्चन नंदा टॉकिंग शो कॉफी विद करण में मेहमान बनकर पहुंचे थे। इस दौरान एक राउंड में अभिषेक से ऐश की उस आदत के बारे में पूछा गया, जो उन्हें पसंद नहीं और वो उसे टॉलरेट करते हैं। इस बार एक्टर ने बताया था कि ऐश्वर्या की पैकिंग स्किल्स से नफरत है और उन्हें इसे बर्दाश्त करना पड़ता है।

इस स्किल को सुधारना है आसान

अभिषेक ने जिस आदत का जिक्र किया, वो बेहद कॉमन है। बैग को सही तरीके से पैक करना वो भी सही चीजों के सिलेक्ट करते हुए, सभी के लिए उतनी नैचरल स्किल नहीं होती है, जैसी आमतौर पर मानी जाती है। हालांकि, इस स्किल को लर्न करना और पैकिंग में मास्टर बनना आसान है।

जब पति-पत्नी का बैग होना हो पैक

आमतौर पर कपल्स कहीं बाहर ट्रैवल के लिए जाते हैं, तो वो एक ही बैग में दोनों की चीजें पैक कर लेते हैं। हालांकि, सबसे अच्छा तरीका ये है कि दोनों ही अपना-अपना बैग पैक और कैरी करें। इससे किसी को भी अपनी किसी चीज को पैक करने से समझौता नहीं करना पड़ेगा। साथ ही पैकिंग का तरीका भी क्लैश नहीं होगा।

हालांकि, ये जरूर ध्यान रखें कि ऐसा न हो कि एक का बैग छोटा-हल्का हो और एक का बड़ा व भारी और फिर पति को दोनों ही बैग्स कैरी करने पड़ें। ऐसे में दो बैग सहूलियत नहीं बल्कि और ज्यादा मुश्किल पैदा करेंगे। साथ ही पति भी इरिटेट हो जाएगा।

लिस्ट बनाएं और फिल्टर करें
पैकिंग से पहले अपने ट्रैवल के दिनों को काउंट करें और फिर उसके मुताबिक पहनने के कपड़े आदि के सेट निकाल लें। उस सामान की पूरी लिस्ट बनाएं, जो आप ले जाना चाहते हैं। इसमें से अब फिल्टर करें कि कौन सी चीज ज्यादा अहम है और कौन सी नहीं।

सबसे पहले महत्वपूर्ण चीजों को पैक करें और फिर जब गुंजाइश बचे, तब दूसरी चीजों को फिट करें। ओवरपैकिंग से किसी भी हाल में बचें। शूज से लेकर एक्ससरीज एंड पर्स तक हर चीज के वो ऑप्शन चुनें, जो किसी के भी साथ मिलकर अच्छा कॉम्बिनेशन बन जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *