hashi mahem rohtak railway line

Hansi-Maham-Rohtak Rail: हरियाणा के हांसी-महम-रोहतक रेलवे लाइन पर नियमित मालगाड़ियाँ दौड़ेंगीं। इससे समय की बचत होगी और यह स्थानीय यात्रियों के लिए भी सुविधा उपलब्ध कराएगा। इस नई रेलवे लाइन के माध्यम से हरियाणा के शहरों के बीच और बाहरी इलाकों के साथ भी अच्छी रेल कनेक्टिविटी होगी।

मालगाड़ियों की रोजमर्रा की गति से, नए स्टेशनों के बनाए जाने और स्टाफ की नियुक्ति के साथ, यह परियोजना सफलता की दिशा में बढ़ाई जा रही है। इससे स्थानीय अर्थतंत्र को भी प्रोत्साहित किया जा सकता है और नौकरीयों का स्रोत बन सकता है।

मालगाड़ियों की दौड़ाने से यात्री ट्रेनों की सेवा में भी सुधार हो सकता है, जो एक बहुत ही सकारात्मक विकास है। कोहरे में भी यह नई रेलवे लाइन का उपयोग कर मालगाड़ियों की आवागमन की सुरक्षा में सुधार होगा।

इस परियोजना की सफलता ने दिखाया है कि भारतीय रेलवे ने तेजी से विकास की दिशा में कदम बढ़ाया है, और ऐसे हरियाणा के शहरों के बीच और साथ ही अन्य इलाकों के साथ भी मजबूत रेलवे संबंध बना रहा है।

आपको बता दें कि पहले दिल्ली से आने वाली मालगाड़ी रोहतक से भिवानी होते हुए हांसी आती थी वह मालगाड़ी अब रोहतक से महम होकर हांसी आ रही है। मालगाड़ी इसी लाइन से वापस भी जा रही हैं। इस नई रेलवे लाइन से प्रतिदिन करीब चार मालगाड़ी गुजरती हैं।

अब मालगाड़ी के चलने से ट्रेन जल्दी चलने की उम्मीद जाग गई है। नई रेलवे लाइन पर मालगाड़ी दौड़ाने से समय की बचत हो रही है। साथ ही कोहरे में भी फायदा मिल रहा है।

आपको बता दें कि साल 2011 में हांसी-महम-रोहतक रेलवे लाइन की घोषणा हुई थी। यह रेलवे लाइन अब पूरी तरह से तैयार है। हांसी-महम-रोहतक रेलवे लाइन पर 118 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से स्पीड ट्रायल सफल रहा है। वहीं आपको बता दें कि 68.5 किमी लंबी रेल लाइन पर कुल पांच स्टेशन होंगे। 20 गांवों के होती हुई रेल रोहतक पहुंचेगी। हांसी के बाद पहले स्टेशन गढ़ी, मदीना, बलंभा, खरकड़ा व रोहतक से पहले बहु-अकबरपुर गांव में स्टेशन होगा। इस रेल मार्ग से हिसार से रोहतक के बीच 20 किमी की दूरी कम होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *