haryana bjp

Haryana BJP: हरियाणा में लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) के केंद्रीय नेतृत्व ने पार्टी के सभी 41 विधायकों और 10 लोकसभा सांसदों को 4 बड़े टास्क दिए हैं। अहम बात यह है कि उनके द्वारा की जाने वाली डेली एक्टिविटी के वीडियो और फोटो के साथ दिल्ली से डेटा मांगा जा रहा है।

अयोध्या में श्री रामलला की होने वाली प्राण प्रतिष्ठा से पहले अपने विधानसभा क्षेत्र में श्रीराम शोभा यात्रा का निकालना भी टास्क के हिस्से में शामिल किया गया है। साथ ही केंद्र के द्वारा पूरे देश में निकाली जाने वाली भारत संकल्प विकसित यात्रा में उनकी सहभागिता को लेकर फीडबैक केंद्रीय नेतृत्व ले रहा है।

नमो ऐप का टारगेट 
पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने सूबे के सभी विधायकों और सांसदों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि वह नमो APP को लेकर गंभीर रहें। पार्टी ने विधायकों को निर्देश दिए हैं कि वह लोकसभा चुनाव से पहले 5 हजार नमो ऐप अपनी विधानसभा के लोगों के फोन में डाउनलोड कराएं।
सांसदों को कहा गया है कि वह 30 हजार नमो ऐप मोबाइल फोन में डाउनलोड कराएंगे। साथ ही इसकी डेली डिटेल दिल्ली भेजनी होगी।

सोशल मीडिया पर अलर्ट 
लोगों तक अपनी पहुंच बनाने के लिए सभी सांसदों और विधायकों को सोशल मीडिया का प्रमुख टास्क दिया गया है। उन्हें कहा गया है कि X (पहले ट्विटर), फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर अपने फॉलोअर्स को लेकर काफी सजग रहें।
केंद्रीय योजनाओं के साथ ही राज्य की जनहित की योजनाओं का प्रचार-प्रसार इनके माध्यम से करें। साथ ही डेली एक्टिविटी के वीडियो और फोटो भी इन पर शेयर करें।

विकसित संकल्प यात्रा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2047 तक विकसित भारत के राष्ट्रीय संकल्प को लेकर 15 नवंबर, 2023 को भारत विकसित संकल्प यात्रा की शुरुआत की है। अन्य राज्यों की तरह हरियाणा में भी ये यात्रा निकाली जा रही है।
इसका समापन 26 जनवरी, 2024 को होगा। इस यात्रा को लेकर केंद्रीय नेतृत्व हरियाणा से डेली फीडबैक मंगा रही है। इसके लिए हर विधायक और सांसद को अपने अपने क्षेत्र में निकालने की हिदायत दी गई है।

शोभा यात्रा निकालने की हिदायत
उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 22 जनवरी को श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होनी है। इसको लेकर सूबे के सभी सांसदों और विधायकों को अपने अपने क्षेत्रों में श्रीराम शोभा यात्रा निकालने की हिदायत दी गई है।
इस यात्रा में कितने लोग शामिल हुए, क्या इसका प्रभाव रहा इसका डेटा भी दिल्ली मंगवा रहा है। यात्रा के वीडियो और फोटो भी पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व मंगवा रहा है।

हरियाणा में केंद्रीय नेतृत्व की इस कवायद के पीछे कुछ खास वजह बताई जा रही हैं। पार्टी के नेताओं का कहना है कि हरियाणा में अभी सभी 10 लोकसभा सीटों पर भाजपा के सांसद हैं। साथ ही सूबे में भी पिछले 10 सालों से सत्ता में काबिज है।
दोबारा से सभी लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करने के साथ ही विधानसभा में पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने का दबाव है, इसको देखते हुए पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व लोकसभा चुनाव तक सभी सांसदों और विधायकों को फील्ड में भेज रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *